Notice: Function add_theme_support( 'html5' ) was called incorrectly. You need to pass an array of types. Please see Debugging in WordPress for more information. (This message was added in version 3.6.1.) in /home/bhartiya/rashtriyaujala.com/wp-includes/functions.php on line 5833
Aadhaar कार्ड खो गया तो हो जाएं अलर्ट! ऐसे करें तुरंत लॉक, नहीं होगा गलत इस्तेमाल - Rashtriya Ujala

Aadhaar कार्ड खो गया तो हो जाएं अलर्ट! ऐसे करें तुरंत लॉक, नहीं होगा गलत इस्तेमाल

0

नई दिल्ली: Aadhaar Card Lost: अगर आपका आधार कार्ड (Aadhaar Card) खो गया है, तो बेहतर होगा आप इसको तुरंत लॉक कर लें, क्योंकि कोई भी दूसरा व्यक्ति आपके आधार कार्ड की जानकारी का गलत इस्तेमाल कर सकता है. आधार कार्ड खोने पर आप इसे कैसे लॉक और फिर अनलॉक कर सकते हैं, इसकी पूरी प्रक्रिया UIDAI की वेबसाइट पर मिल जाएगी. UIDAI आपको घर बैठे ही आधार कार्ड को लॉक और अनलॉक करने की सुविधा देता है. तो चलिए समझते हैं कि आप ये कैसे कर सकते हैं. 

Aadhaar को लॉक करने का तरीका 

आधार नंबर को लॉक करने के लिए आपको UIDAI की वेबसाइट आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है. जहां पर आपको बताई हुई प्रक्रिया को फॉलो करना है.

1. UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट https://resident.uidai.gov.in/ पर जाएं
2. ‘My Aadhaar’ में आपको ‘Aadhaar Services’ का ऑप्शन दिखेगा 
3. Aadhaar Services’ के थोड़ा नीचे Lock/Unlock Biometrics का ऑप्शन दिखेगा
4. बॉक्स को टिक करके नीचे Lock/Unlock Biometrics के टैब पर क्लिक करें 
5. इसके बाद log in का ऑप्शन दिखाई देगा, यहां 12 डिजिट का आधार नंबर या या 15 अंकों का वर्चुअल आईडी (VID) डालें
6. कैप्चा कोड भरें और ‘Send OTP’ पर क्लिक करें
7. ओटीपी डालने के बाद बॉयोमैट्रिक डेटा को लॉक करने का ऑप्शन मिलेगा
9. लॉक को क्लिक करें, बस ऐसा करते ही आपका आधार कार्ड ब्लॉक हो जाएगा

ध्यान रहे कि आधार कार्ड को लॉक करने से पहले वर्चुअल आईडी (VID) जरूर जेनरेट कर लें, क्योंकि आधार नंबर को लॉक करने के बाद KYC से जुड़ी किसी भी तरह की जरूरत के लिए आपको इसकी आवश्यक्ता पड़ेगी. जैसे आपने लॉक किया था, ठीक यही प्रक्रिया अनलॉक की है. ओटीपी दर्ज करके बॉयोमैट्रिक डेटा को ‘अनलॉक’ करने के ऑप्शन चुनना होगा. 

Aadhaar को लॉक करने के फायदे

एक बार लॉक होने के बाद आधार नंबर के जरिए डेमोग्राफिक, बायोमैट्रिक या फिर ओटीपी के जरिए ऑथेंटिकेशन नहीं हो पाएगा. इससे आधार नंबर के गलत इस्तेमाल की आशंका खत्म हो जाएगी. आपको किसी भी तरह के KYC के लिए 16 अंक के वर्चुअल आईडी की जरूरत होगी. आधार कार्ड को अनलॉक करने के बाद आप फिर से सभी सर्विसेज के लिए इसका इस्तेमाल शुरू कर सकेंगे.

Share.

About Author

Leave A Reply