UP चुनाव से पहले Asaduddin Owaisi का बड़ा दांव, राम की नगरी से करेंगे चुनावी अभियान की शुरुआत

0

अयोध्या: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने 2022 के यूपी विधान सभा चुनाव (UP Assembly Elections 2022) अभियान की शुरुआत 7 सितंबर से राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) से करने का फैसला किया है. ओवैसी इस दिन अयोध्या के रुदौली में एक सभा को संबोधित करेंगे, जिसमें मुसलमानों, दलितों, पिछड़ों और अन्य वर्गों के लोगों को बुलाया गया है.

‘वंचित-शोषित समाज’ के साथ एआईएमआईएम!

एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि न केवल मुस्लिम बल्कि अन्य समुदायों का भी केंद्र और उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार ने शोषण किया है. एआईएमआईएम ने पूरे उत्तर प्रदेश में ‘वंचित-शोषित समाज’ के सम्मेलनों की एक सीरीज आयोजित करके इन लोगों के अधिकारों के लिए लड़ने का फैसला किया है.

इतनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी एआईएमआईएम

बता दें कि 8 सितंबर को ओवैसी इसी तरह की सभाओं को सुल्तानपुर और बाराबंकी में संबोधित करेंगे. शौकत अली ने कहा कि ये समुदाय एक विकल्प की तलाश में हैं और एआईएमआईएम वंचित समुदायों की आशा और आवाज के रूप में उभरा है. एआईएमआईएम लोगों से 2022 के विधान सभा चुनाव में काम करने वाली सरकार बनाने के लिए इसका समर्थन करने का आह्वान करेगी. जान लें कि एआईएमआईएम ने उत्तर प्रदेश की 100 विधान सभा सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान किया है.

भागीदारी संकल्प मोर्चा में ये पार्टियां हुईं शामिल

एआईएमआईएम भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाने के लिए छोटे राजनीतिक दलों के गठबंधन में भी शामिल हो गया है, जिसमें ओम प्रकाश राजभर के नेतृत्व वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी), बाबू सिंह कुशवाहा के नेतृत्व वाली जन अधिकार पार्टी, बाबू रामपाल के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय उदय पार्टी, प्रेमचंद प्रजापति की राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी और अनिल सिंह चौहान के नेतृत्व वाली जनता क्रांति पार्टी शामिल है. मोर्चा ने भीम आर्मी को भी गठबंधन में शामिल होने के लिए कहा है.

Share.

About Author

Leave A Reply