RBI गवर्नर की PC के बाद सेंसेक्‍स 400 अंक लुढ़का, निफ्टी 9 हजार के नीचे

0

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास शुक्रवार को मीडिया के सामने मुखातिब हुए. इस दौरान उन्‍होंने रेपो रेट कटौती, ईएमआई मोहलत समेत कई बड़े ऐलान किए.

  • बीते तीन दिनों से बढ़त के साथ बंद ह‍ो रहा है सेंसेक्‍स
  • गुरुवार को सेंसेक्‍स में देखी गई 114 अंक की बढ़त

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) गवर्नर शक्तिकांत दास शुक्रवार को मीडिया के सामने मुखातिब हुए. इस दौरान उन्‍होंने रेपो रेट कटौती, ईएमआई मोहलत समेत कई बड़े ऐलान किए. हालांकि, इसका शेयर बाजार पर कोई असर नहीं दिखा. इसके उलट शेयर बाजार में बिकवाली बढ़ गई है. शक्‍तिकांत दास की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद सेंसेक्‍स 350 अंक तक लुढ़क कर 30 हजार 600 अंक के नीचे कारोबार कर रहा था तो इसी तरह निफ्टी में 60 अंकों की गिरावट आई और यह 9100 अंक के नीचे था.

गुरुवार को क्‍या रहा हाल?

अर्थव्यवस्था के धीरे-धीरे खुलने के बीच एफएमसीजी और वाहन कंपनियों के शेयरों में खरीदारी से गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स 114 अंक चढ़ गया. यह लगातार तीसरा सत्र रहा जब बाजार में तेजी रही. बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में एक समय 370 अंक तक चढ़ गया था. अंत में यह 114.29 अंक या 0.37 प्रतिशत की बढ़त के साथ 30,932.90 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह एनएसई का निफ्टी 39.70 अंक या 0.44 प्रतिशत लाभ के साथ 9,106.25 अंक पर बंद हुआ.

निवेशक सतर्क क्‍यों?

कारोबारियों ने कहा कि अर्थव्यवस्था को धीरे-धीरे खोला जा रहा है. अब रेल और हवाई सेवाएं भी शुरू हो रही हैं. इससे निवेशकों में उत्साह है. हालांकि, कोरोना वायरस महामारी की वजह से निवेशक सतर्कता बरत रहे हैं.विश्लेषकों ने कहा कि कोविड-19 के दीर्घावधि प्रभाव को लेकर चिंता तथा अमेरिका-चीन संबंध खराब होने से निवेशकों में बेचैनी है.

बीएसई को 1.94 करोड़ रुपये का घाटा

देश के प्रमुख शेयर बाजार बीएसई को बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में 1.94 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में एक्सचेंज ने 51.86 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था. एनएसई को भेजी सूचना में बीएसई ने कहा कि जनवरी से मार्च 2020 तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 155.79 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 182.08 करोड़ रुपये रही थी.

Share.

About Author

Leave A Reply