भारत ने विंडीज को दिया 378 रनों का लक्ष्य,रोहित और रायुडू ने लगाया शतक

0

भारत ने चाैथे मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी करते हुए विंडीज के सामने 378 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। ओपनर रोहित शर्मा ने 137 गेंदों में 162 रनों की तेज पारी खेली, जिसमें 20 चाैके आैर 4 छक्के रहे। उनके पास दोहरा शतक जड़ने का माैका था पर 44वें ओवर की पांचवीं गेंद पर कैच आउट हो गए। यह रोहित का 21वां शतक रहा.. चाैथे नंबर पर आए अंबाती रायुडू ने 81 गेंदों में 8 चाैकों आैर 4 छक्कों के साथ 100 रन बनाए, जिसकी बदाैलत भारत विशाल लक्ष्य रखने में कामयाब रहा।

ओपनर जोड़ी शिखर धवन आैर रोहित के बीच पहले विकेट के लिए 11.5 ओवर में 71 रनों की साझेदारी हुई। धवन कीमो पाॅल की गेंद पर 40 गेंदों में 38 रन बनाकर कैच आउट हुए। इसके बाद 101 के स्कोर पर कोहली विकेट के पीछे कैच आउट हो गए। कोहली 16 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद क्रीज पर आए रायुडू आैर रोहित ने तीसरे विकेट के लिए 211 रनों की साझेदारी की आैर स्कोर 300 के पार पहुंचाया। रोहित के आउट होने के बाद विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी से उम्मीद थी कि वह बड़े शाॅट खेलेंगे लेकिन वह 15 गेंदों में 2 चाैकों के साथ 23 रन बनाकर आउट हो गए।

इस मैच के लिए टीम इंडिया में दो बदलाव किए गए हैं। रिषभ पंत और युजवेंद्र चहल के स्थान पर रविंद्र जडेजा और केदार जाधव को मौका दिया गया है। विंंडीज की ओर से केमो पॉल को मौका मिला है। अब दोनों की वापसी से पावरप्ले और डैथ ओवरों में भारत का प्रदर्शन बेहतर होगा। भारतीय टीम शनिवार को पुणे में पांच विशेष गेंदबाजों के साथ उतरी लेकिन उसे हार का सामना करना पड़ा। विंडीज के खिलाफ मौजूदा दौरे पर यह उसकी पहली हार है। सीरीज 1-1 की बराबरी पर है।

गेंदबाजी की बात करें तो जसप्रीत बुमराह ने वापसी करते हुए शनिवार को तीसरे वनडे में चार विकेट चटकाए। विरोधी टीम के बल्लेबाजों को रोकने में दोनों स्पिनरों युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की भूमिका अहम होगी। विंडीज की सबसे बड़ी उम्मीद विकेटकीपर बल्लेबाज शाई होप हैं जिन्होंने विशाखापत्तनम में 123 और पुणे में 95 रन की दो अहम पारियां खेली। टीम को उनसे एक और बड़ी पारी की उम्मीद होगी और शिमरोन हेटमायेर से भी जो तीसरे मैच में अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। पुणे मैच से पहले बाए हाथ के बल्लेबाज हेटमायेर ने 106 और 94 रन की पारियां खेली थी।

Share.

About Author

Leave A Reply