दुनिया का कोई दिग्गज नहीं कर पाया ऐसा काम, भारत के बॉलर ने दिया अंजाम

0

लगातार तीन गेंदों पर तीन विकेट लेकर हैट्रिक जमाना किसी भी गेंदबाज का सपना होता है. अगर वह हैट्रिक प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू करते ही हासिल हो जाए, तो इससे बेहतर शुरुआत और क्या हो सकती है. इतना ही नहीं, अगर वह हैट्रिक फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू करते हुए पहले ही ओवर में बन जाए तो इसे क्या कहेंगे..? जी हां! ये सच है. हाल ही में मौजूदा रणजी ट्रॉफी सीजन के दौरान एक अनजान गेंदबाज ने यह करिश्मा कर दिखाया है. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण करते हुए पहले ही ओवर में हैट्रिक जमाने का यह एकमात्र उदाहरण है. यानी यह वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं. इस अनोखे कीर्तिमान के मालिक बने इस गेंदबाज से ‘आजतक’ ने बातचीत की और उसी से उसकी कामयाबी की कहानी जाननी चाही.
आइए, सबसे पहले जानते हैं ऐसा कारनामा करने वाला यह गेंदबाज कौन है. उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के रहने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज रवि यादव ने 28 साल की उम्र में मध्य प्रदेश की ओर से रणजी ट्रॉफी में पदार्पण किया. मजे की बात यह है कि रवि ने अपने गृहराज्य उत्तर प्रदेश की टीम के विरुद्ध ही यह असाधारण उपलब्धि अपने नाम की.27 जनवरी का दिन क्रिकेट के आंकड़ों में दिलचस्पी रखने वालों के लिए बेहद खास साबित हुआ. इंदौर में मुकाबले के पहले ही दिन ढलती शाम रवि को 7वें ओवर में आक्रमण पर लगाया गया. फिर क्या था उन्होंने उस ओवर की तीसरी गेंद पर यूपी के आर्यन जुयाल को विकेटकीपर के हाथों लपकवाया और इसके बाद अगली दो गेंदों पर अंकित राजपूत (0) और समीर रिजवी (0) को बोल्ड कर इतिहास रच दिया.

Share.

About Author

Leave A Reply