अब भी महाराष्ट्र की सरकार पर सस्पेंस बरकरार! महाराष्ट्र में कुछ और दिनों तक राष्ट्रपति शासन जारी रहेगा

0

महाराष्ट्र की सियासत पर सस्पेंस अब भी बना हुआ है. शरद पवार के बयानों से यह साफ हो गया कि तीनों पार्टियों के बीच अब तक सत्ता बनाने को लेकर अंतिम फैसला नहीं हुआ है और महाराष्ट्र में कुछ और दिनों तक राष्ट्रपति शासन जारी रहेगा

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों के 25 दिन बाद भी राज्य में जहां कोई सरकार नहीं बन पाई है तो वहीं उम्मीद की जा रही थी कि सोमवार शाम एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच हुई मुलाकात के बाद तस्वीर साफ होगी.

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार सोमवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से क़रीब एक घंटे मिले. शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के सवाल पर पवार ने साफ़ तौर पर कुछ भी नहीं कहा. पवार ने ये भी कह दिया कि वो तो अभी सबके साथ हैं. बैठक के बाद शरद पवार ने आने के बाद घर पर पत्रकारों से बात की लेकिन शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर अपने पत्तों को नहीं खोला.

बैठक से पहले राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने सदन में एनसीपी की तारीफ की जिसके बाद एनसीपी और बीजेपी के बीच बढ़ती नजदीकियों पर चर्चा होने लगी. पत्रकारों से बात करते समय शरद पवार ने सबको तब चौंका दिया जब उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को लेकर कोई बैठक नहीं हुई है.

Share.

About Author

Leave A Reply