विराट कोहली ने टेस्ट सिरीज में मिली हार के बाद टीम इंडिया के प्लेयर्स के बारे में कही ये बात

0

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने आखिरी टेस्ट और सिरीज में मिली हार के बाद एक करारा बयान दिया है। विराट कोहली ने कहा है कि टीम इंडिया के खिलाड़ी इंग्लैंड के खिलाफ उन्हीं की सरजमीं पर आखिरी टेस्ट में निडर होकर खेले। हालांकि, खिलाड़ियों में अनुभव की कमी महसूस की गई।

सलामी बल्लेबाज केएल राहुल (149) और ऋषभ पंत (114) के बीच छठे विकेट के लिए हुई 204 रन की रिकॉर्ड साझेदारी के बावजूद टीम इंडिया के मैच 118 रन से हार गई। लेकिन इस बीच भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने ये साबित कर दिया कि वह कुछ भी करने का मद्दा रखते हैं।

भारत को लंदन के ओवल मैदान पर इंग्लैंड के हाथों पांचवें और आखिरी टेस्ट मैच के 118 रन से हार का सामना करना पड़ा। इसी के साथ इंग्लैंड की टीम ने पांच मैचों की सिरीज को 4-1 से अपने नाम कर लिया। इस मुकाबले के लिए इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज एलिस्टर कुक को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड मिला।

वहीं, मैच के बाद विराट कोहली ने कहा, “हमारे पास टीम में योग्यता है, हमें केवल अनुभव चाहिए।” इस दौरान विराट ने राहुल और पंत की पारियों की भी सराहना की। कप्तान कोहली ने कहा, “इंग्लैंड ने भी ड्रॉ के लिए नहीं खेला। उन्होंने निडर क्रिकेट खेला। यही कारण है कि आपको ड्रॉ देखने को नहीं मिला।”

विराट कोहली ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि दोनों युवा खिलाड़ियों(राहुल और पंत) को अधिक श्रेय देना चाहिए। हमने जिस तरह का क्रिकेट खेला, वह शायद स्कोरकार्ड पर दिखाने लायक नहीं था। पंत ने अधिक साहस और प्रतिभा का प्रदर्शन किया। जब आप ऐसी परिस्थितियों में होते हैं तो आप परिणाम के बारे में नहीं सोचते।”

कप्तान विराट कोहली ने आगे बोलते हुए कहा, “मैं दोनों के प्रदर्शन खुश हूं और ये भारत के भविष्य हैं। हम इस मौके का लाभ नहीं उठा पाए।” बता दें कि विराट कोहली ने इस सिरीज में कुल 593 रन बनाए। इसके लिए विराट को प्लेयर ऑफ द सिरीज के अवॉर्ड से नवाजा गया।

विराट कोहली ने कहा कि पांचों मैचों में अच्छे खासे दर्शक आए जो कि टेस्ट क्रिकेट के लिए काफी सकारात्मक बात है। विराट कोहली बोले, “दोनों टीमें जानती है कि सिरीज काफी प्रतिस्पर्धी रही। यह टेस्ट क्रिकेट के लिए एक अच्छा है। इंग्लैंड एक अच्छी टीम है और हमने यह महसूस किया कि दो-तीन ओवरों में खेल बदल गया।”

Share.

About Author

Leave A Reply