Corona Virus Death Toll: चीन में मौत का डराने वाला आंकड़ा, अब तक 425 लोगों ने तोड़ा दम

0

Corona Virus Death Toll: सरकार ने अबतक 425 लोगों की मौत की पुष्टि की है और इससे संक्रमित लोगों की संख्या 20,438 तक पहुंच गई है. इस बीच कोरोना वायरस से बचने के लिए चीन ने 10 दिनों के अंदर 1000 बेड वाला अस्पताल बनाकर तैयार कर लिया है. जबकि 1500 बेड वाला दूसरा अस्पताल जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा.

  • चीन में 20,438 लोग कोरोना वायरस से हैं संक्रमित
  • 10 दिनों में 1000 बेड वाला अस्पताल हुआ तैयार
  • हुबेई का वुहान शहर कोरोना वायरस का है केंद्र

चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Corona virus) का संक्रमण दुनिया के कई देशों में फैल चुका है. कोरोना से चीन में अबतक 425 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 20 हजार से ज्यादा केस की पुष्टि हो चुकी है. दुनिया भर में फैलते कोरोना वायरस को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पहले ही इंटरनेशनल हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा कर चुका है. कई देशों ने चीन के लिए उड़ानें रद्द कर दी है, जबकि कई देश चीन में फंसे अपने नागरिकों को एयरलिफ्ट करा कर निकाल रहे हैं.

कोरोना का कहर चीन में थमने का नाम नहीं ले रहा है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक वहां की सरकार ने अबतक 425 लोगों की मौत की पुष्टि की है और इससे संक्रमित लोगों की संख्या 20,438 तक पहुंच गई है. इस बीच कोरोना वायरस से मुकाबला के लिए चीन ने 10 दिनों के अंदर 1000 बेड वाला अस्पताल बनाकर तैयार कर लिया है. जबकि 1500 बेड वाला दूसरा अस्पताल जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा.

कोरोना से चीन में अब तक 425 लोगों की मौत हो चुकी है. यह संख्या 2003-2004 में बीजिंग में सार्स (SARS) वायरस से हुई मौतों की संख्या से ज्यादा हो चुकी है. चीन के हुबेई प्रांत का वुहान शहर कोरोना का केंद्र बना हुआ है. हुबेई प्रांत में सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया के 18 से ज्यादा देशों में कोरोना ने पैर पसार लिए हैं. जबकि कई देशों ने एयरलिफ्ट करके अपने लोगों को निकालना शुरू कर दिया है.

दिनोंदिन चीन में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. 1.4 अरब की आबादी वाले चीन में कोरोना से लड़ने के लिए मेडिकल उपकरणों की कमी हो गई है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनइंग ने कहा, ‘चीन में मेडिकल उपकरण की कमी हो गई है. चीन को तत्काल प्रभाव से मेडिकल मास्क, मेडिकल गाउन और सुरक्षा गोगल्स की जरूरत है.’

वहां के उद्योग मंत्रालय के मुताबिक चीन में सामान्य परिस्थितयों में रोज 20 मिलियन मास्क का उत्पादन होता था, लेकिन कोरोना के कहर के कारण फैक्ट्रियां आजकल 60 से 70 फीसदी ही उत्पादन कर पा रही हैं. हालांकि चीन को साउथ कोरिया, जापान, कजाकिस्तान और हंगरी ने मास्क भेजे हैं.

चीन के लिए अभिशाप बन चुकी कोरोना की महामारी के बीच भारत सरकार वहां फंसे अपने नागरिकों को वापस ला रही है. शनिवार को एअर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट चीन से 324 भारतीयों को लेकर नई दिल्ली पहुंची थी. रविवार की सुबह भी एअर इंडिया का एक और विमान भारतीयों को लेकर नई दिल्ली पहुंचा. चीन के वुहान शहर से उड़ान भरने वाले एअर इंडिया के इस विमान से 323 भारतीय स्वदेश लौटे हैं. इनके साथ ही मालदीव के 7 नागरिकों को भी दिल्ली लाया गया है.

चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने इस संबंध में बताया कि इस विमान में भारत के 323 और मालदीव के 7 नागरिक सवार थे. मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि वुहान से लौट रहे 7 लोगों को अभी नई दिल्ली में ही निगरानी में रखा जाएगा.

Share.

About Author

Leave A Reply