पाकिस्तान में जबरन धर्मांतरण, शादी के बाद 15 साल की हिंदू लड़की महिला सुरक्षा केंद्र भेजी गई.

0

कराची, । पाकिस्तान के सिंध प्रांत में उस 15 वर्षीय हिन्दू लड़की को अदालत के आदेश के
बाद महिला सुरक्षा केंद्र भेज दिया गया है जिसकी जबरन धर्मांतरण के बाद मुस्लिम व्यक्ति से शादी करा दी गई
थी। नौवीं कक्षा की छात्रा महक कुमारी का 15 जनवरी को जैकबाबाद जिले से अली रजा सोलंगी ने कथित तौर
पर अपहरण कर लिया था, जिसने बाद में उससे शादी कर ली थी। लड़की के पिता विजय कुमार ने प्राथमिकी दर्ज
कराई थी, जिसमें दावा किया गया था कि सोलंगी ने उनकी 15 वर्षीय बेटी का अपहरण करने के बाद जबरन
उससे शादी की। अधिकारियों के अनुसार, कुमारी और सोलंगी को मंगलवार को अदालत के समक्ष पेश किया गया,
जहां से लड़की को महिला पुलिस सुरक्षा केंद्र में भेज दिया गया। अदालत ने चांदका मेडिकल कॉलेज अस्पताल को
लड़की की आयु के बारे में तीन फरवरी तक रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के
मुताबिक, सिंध अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हरिराम किशोरी लाल ने कुमारी के परिवार को पूरा समर्थन देने का
आश्वासन दिया है। बुधवार को जैकबाबाद जिले के एक हिंदू समूह के नेता के साथ टेलीफोन पर बातचीत में मंत्री
ने कहा कि सिंध सरकार परिवार और हिंदू समूह के रुख का पूरा समर्थन करती है। उन्होंने अधिकारियों से हिंदू
लड़कियों के खिलाफ होने वाली बर्बरता और अन्याय के बारे में संज्ञान लेने तथा अल्पसंख्यक समुदाय के लिए
सुरक्षा सुनिश्चित करने की भी अपील की।

Share.

About Author

Leave A Reply