Me Too: आलोक नाथ के खिलाफ 19 साल बाद थाने पहुंचीं नंदा, PM को लिखा खुला खत

0

#MeToo में नाम सामने आने के बाद एक्टर आलोक नाथ और उनकी पत्नी ने राईटर विंटा नंदा के खिलाफ मानहानि का केस किया था, अब राइटर प्रोड्यूसर विंटा भी कानूनी तौर से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और इसी वजह से उन्होंने बुधवार को आलोक नाथ के खिलाफ मुंबई के ओशिवारा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है यही नहीं उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को भी इस बारे में एक खुला खत लिखा है, जिसमें उन्होंने अपने लिए न्याय की मांग की है।

कंपलेन दर्ज कराने के बाद पुलिस थाने के बाहर विंटा नंदा ने बयान दिया कि मैंने आज आलोक नाथ के खिलाफ पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत दर्ज कराई है, पुलिस ने मुझे भरोसा दिया है कि वे जल्द ही मेरा बयान रिकॉर्ड करेंगे , मुझे पुलिस और न्याय पालिका पर पूरा भरोसा है, आज 19 साल के मेंटल ट्रॉमा के बाद मैं यहां शिकायत दर्ज कराने आई हूं, मुझे पूरी आशा है कि मुझे न्याय मिलेगा।

आपको बता दें कि आज आलोक नाथ की ओर से भी कोर्ट में दायर मानहानि मामले पर भी सुनवाई हुई है, इस दौरान जज ने एक्टर की गैर मौजूदगी पर नाराजगी जाहिर करते हुआ कहा कि आज मामले की सुनवाई के दौरान आलोक नाथ क्यों मौजूद नहीं हैं?

मालूम हो कि आलोक नाथ ने राइटर और प्रोड्यूसर विंटा नंदा के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है, जिसमें उन्होंने विंटा से लिखित माफी मांगने और मुआवजे के तौर पर एक रुपए की मांग की है।

गौरतलब है कि हिंदी फिल्मों के संस्कारी बाबूजी आलोक नाथ पर, राइटर और फिल्ममेकर विंटा नंदा ने यौन शोषण का आरोप लगाते हुए फेसबुक पर एक लंबी-चौड़ी पोस्ट लिखी थी, जिसमें उन्होंने आलोक नाथ का नाम लिए बिना ही 19 साल पहले अपने साथ हुए रेप की कहानी को बयां किया था।

Share.

About Author

Leave A Reply