हिमाचल प्रदेश में 1093 को किया रेस्क्यू, अब तक 2595 सुरक्षित पहुंचाएं

0

भारी बारिश के चलते प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में फंसे 1093 लोगों को रेस्क्यू किया गया। इन लोगों को वायुसेना के हेलीकॉप्टरों के माध्यम से निकाला गया। वायुसेना के हेलीकॉप्टर रेस्क्यू में जुटे रहे। चंबा, लाहुल स्पीति सहित अन्य जगहों से अभी तक 2595 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। बारिश के चलते चंबा के होली में फंसे खेलकूद प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आए शेष बच्चों को घर भेज दिया है। इन्हें आज बग्गा तक करीब चार दर्जन छोटे वाहनों में लाया गया, उसके बाद 15 बसों के जरिए आगे भेजा गया।

सलूणी, सुंडला, तीसा, कल्हेल, बनीखेत, चुवाड़ी और सिहुंता शिक्षा खंडों के 365 बच्चों को 15 बसों में उनके गंतव्य के लिए भेज दिया गया है। वहीं, पांगी के 36 बच्चों और स्टाफ के 5 लोगों को चंबा से वायुसेना के हेलीकॉप्टर की उड़ानों के जरिए घाटी के लिए भेजा गया। स्टाफ के 10 अन्य को कल भेजा जाएगा। वीरवार शाम को छतड़ू से निकाले गए 4 लोगों को मनाली के निकट सासे के हेलीपेड पर उतारा गया है। इसके साथ ही तीन दिन के रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान हेलीकॉप्टरों के माध्यम से निकाले गए लोगों की तादाद कुल 110 हो गई है। इनमें 24 विदेशी शामिल हैं। वायु सेना के एक और हेलीकाप्टर ने उड़ान भरते हुए करीब पौने छह बजे एक बच्चे सहित कुल 7 लोगों को कुल्लू पहुंचाया।

इस प्रकार वायु सेना के हेलीकॉप्टरों के माध्यम से कुल्लू पहुंचाए गए लोगों की कुल संख्या 106 हो गई है। इनमें से 70 लोग वीरवार को ही सुरक्षित निकाले गए हैं। लाहौल-स्पिति जिले में भारी बर्फबारी के कारण फंसे लोगों को निकालने के लिए प्रदेश सरकार व प्रशासन द्वारा भारतीय वायु सेना की मदद से चलाए गए रेस्क्यू आपरेशन के तीसरे दिन भी दर्जनों लोगों को वायु सेना के हेलीकाप्टरों के माध्यम से कुल्लू पहुंचाया गया। वीरवार शाम पांच बजे तक देश-विदेश के पर्यटकों सहित कुल 99 लोगों को कुल्लू पहुंचाया जा चुका है। इनमें 18 विदेशी पर्यटक और 81 भारतीय पर्यटक या आम लोग शामिल हैं। ऑपरेशन के पहले दिन 25 सितंबर को 5, 26 सितंबर को 31 और 27 सितंबर को 63 लोगों को वायु सेना के हेलीकॉप्टरों के माध्यम से निकाला गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply