पाकिस्तान की जेल से 36 साल बाद रिहा होकर वतन लौटा गजानंद, देखते ही भावुक हुआ परिवार

0

पाकिस्तान की लाहौर जेल में पिछले 36 साल से बंद भारतीय नागरिक गजानंद शर्मा अपने वतन लौट आए हैं। पाकिस्तान ने उनको सोमवार को लाहौर जेल से रिहा कर दिया। रिहाई के बाद वो पंजाब से भारतीय नागरिकों को लेकर एक ट्रेन वाघा बॉर्डर पहुंची। जिसके द्वारा वो अन्य भारतीय नागरिकों के साथ भारत लौट आए है।

अटारी-वाघा बॉर्डर पर से 69 वर्षीय गजानंद ने अपने वतन में प्रवेश किया। गजानंद की देश लौटने की तस्वीर देखकर उनकी 62 वर्षीय पत्नी मखनी देवी भावुक हो गई और अपने आंसू नहीं रोक पाई। बता दें कि गजानंद 36 साल पहले जयपुर से लापता हो गए थे। कुछ दिनों पहले तक उनके परिवार को उनके जिंदा होने तक का पता नहीं था।

राजस्थान के जयपुर के रहने वाले गजानंद शर्मा ने 40 साल की उम्र में 1982 में अपना घर छोड़ा था। उस दौरान उनका एक खुशहाल परिवार था। वो दो बच्चों के पिता भी थे। अब उनकी वापसी से परिवार में खुशी की लहर है। 36 साल बाद वह अपने घर लौटेंगे तो अपने छह पोते-पोतियों से मिलेंगे।

गजेंद्र के पाकिस्तान के लाहौर की जेल में बंद होने का पता इसी साल लगा था। इसके बाद उनके परिजनों ने रिहाई के लिए दिन रात एक कर दिया। आखरिकार गजेंद्र के परिजनों की मेहनत रंग लाई और वो गजेंद्र को रिहा कराने में सफल रहे। गजेंद्र के घर में उनके आने की खुशी में एक बड़ा समारोह आयोजित करने की तैयारी किए जाने की खबर है।

Share.

About Author

Leave A Reply