दीवार और पलंग के बीच फंसकर 9 महीने के बच्चे की दर्दनाक मौत

0

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में 9 महीने के बच्चे के साथ दर्दनाक हादसा हो गया। हादसे में बच्चे की मौत हो गई। बच्चा कमरे की दीवार और पलंग के बीच की जगह में बुरी तरह से फंस गया, जिसकी वजह से दम घुटने से बच्चे की मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबित बच्चा रात के वक्त माता-पिता के बीच सो रहा था। आधी रात को बच्चा लुढ़कता हुआ पलंग और दीवार के बीच बुरी तरह से फंस गया। फांक में फंसते से बच्चे की मौत हो गई।

कृष्णगंज थानांतर्गत शिव निवास के कृष्णपुर के रहने वाले मिठुन और आष्ठमी अपने 9 महीने के बेटे अनिकेत घोष के साथ रहते थे। मिठुन घोष साधारण नौकरी करता है। जबकि उसकी पत्‍‌नी गृहिणी है। बच्चे के पिता ने बताया कि अनिकेत अभी चलना सीख रहा था। हादसे वाली रात माता- पिता ने बच्चे को बीच में सुलाया और खुद भी सो गए। आधी रात को अनिकेत की नींद खुली और वो पलंग से उतरने की कोशिश में पलंग और दीवार के बीच फंस गया। पास में सो रहे माता-पिता को पता भी नहीं चला कि उनका बच्चा मुश्किल में है। सुबह जब वो उठे तो उन्होंने बच्चे को बिस्तर पर नहीं। इधर -उधर तलाशा तो उनकी नजर पलंग और दीवार के बीच के फांक पर गई। बच्चा उसी बीच में फंसा था और दम घुटने से उसकी मौत हो चुकी थी।

आसपास के लोगों को कहना है कि दंपती के करीबियों ने उन्हें बच्चे को नहला धुलाकर और स्त्र पहनाकर उसके शव को नदी के किनारे रखने की सलाह दी। उनकी सलाह के मुताबिक माता पिता ने काम किया। पड़ोसियों के मुताबिक उन्होंने घरवालों के रोने की आवाज सुनी तब जाकर उन्हें घटना की जानकारी मिली। पुलिस ने चुर्नी नदी के किनारे से बच्चे के शव को अपने कब्जा में लेकर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जिस तरह से दंपत्ति ने घटना का ब्यौरा पुलिस को दिया उसके बाद पुलिस अलग-अलग एंगल से इस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस को शक है कि बात कुछ और भी हो सकती है। पास के पलंग पर सो रहे माता-पिता कैसे बच्चे की आवाज नहीं सुन सके। पुलिस को फिलहाल पोस्टमार्मट रिपोर्ट का इंतजार है।

Share.

About Author

Leave A Reply