हरिद्वार से कांवड लाया था मुस्लिम युवा, मौलानाओं ने नमाज पढ़ने से रोका

0

हरिद्वार से कांवड़ लाकर भोले का जलाभिषेक करना मुस्लिम युवक को भारी पड़ गया। युवक को मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोक दिया गया। इतना ही नहीं उसके साथ मार-पीटाई कर उसे मस्जिद से बाहर निकाल दिया और कहां मंदिर में जाकर घंटे बजाओं, कीर्तन करो।

मामला बागपत के बिनौली थाना क्षेत्र के रंछाड़ गांव का है। बाबू खान पुत्र अल्लाहमेर हरिद्वार से कांवड़ लेकर आया था। रास्ते में कई स्थानों पर हिंदू और मुस्लिम समाज के लोगों ने उसका स्वागत किया और शाहजहांपुर गांव में उसे गीता भी भेंट की गई। उसके बाद शिवरात्रि पर पुरा महादेव मंदिर में भोलेनाथ का जलाभिषेक भी बाबू खान ने किया। वह अपने गांव में पहुंचा और दो मंदिरों में भगवान भोलेनाथ पर गंगाजल चढ़ाया। उसकी इस पहल का हिंदू समाज के लोगों ने उसका स्वागत व सम्मान किया।

वहीं, शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए जब वह गांव में मस्जिद में गया तो वहां पर मौजूद युवकों ने मारपीट की और उसे मुस्लिम युवकों ने बाहर निकाल दिया और कहा कि मंदिर में ही घंटे बजा और कीर्तन कर। बाबू ने बिनौली थाना क्षेत्र में पुलिस को उन लोगों के खिलाफ तहरीर भी दी है जिन्होंने बाबू खान से अभद्रता की उसे नमाज पढ़ने से रोका। बाबू खान ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार भी लगाई है। बाबू खान ने बताया कि आरोपियों ने उसके घर हमला किया और गाली-गलौच भी की।

इस बात का पता ग्राम प्रधान और दूसरे लोगों को चला तो उन्होंने दोनों पक्षों को बुलाकर समझौते के प्रयास शुरू कर दिए है। प्रधान प्रतिनिधि का कहना है कि बाबू खान में भाईचारा पैदा किया है और इसे कायम रखा जाएगा। दोनों पक्षों के बीच बातचीत की जा रही है जल्द ही समाधान करा दिया जाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply