योगी राज में भी खाकी नहीं आ रही बाज

0

योगी राज में भी खाकी नहीं आ रही बाज
सब हैड
थाने में हो रही पीड़ितों की बेकदरी,शहर विधायक को खुद पंहुचना पड़ा एस एस पी दफ्तर,थानेदारों पर तल्ख हुए एस एस पी

अलीगढ़।उम्मीद थी कि योगी राज में तो थाने व चौकी के हालातों में सुधार आएगा लेकिन यहां के हालातों को देखकर साफ प्रतीत होता है कि योगी राज में भी खाकी बाज नहीं आ रही।हालात ऐसे हो गए हैं कि कार्यकर्ताओ की समस्याओं को लेकर खुद एस एस पी दफ्तर आना पड़ रहा है, वहीं कार्रवाई के बजाय पुलिस दबंगो को इतना वक्त दे रही है कि इस दौरान वह पीड़ितों को धमका कर मुंह बंद करा सकें।ऐसे ही कुछ मामले आपके सामने यह हैं….

केस -1

सासनीगेट के पला निवासी विमला देवी को दबंगों द्वारा बेरहमी से पीटने पर पुलिस ने मुकद्दमा तो दर्ज कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के लिए पुलिस के हाथ कांपते देखे गए।हालत यह हुए की इस प्रकरण को लेकर खुद शहर विधायक व पूर्व मंत्री राजेन्द्र वार्ष्णेय को एस एस पी के पास जाना पड़ा।एस एस पी ने इस प्रकरण में तत्काल इंस्पेक्टर को फोन कर तलब किया है।

केस-2

ऐसा ही एक मामला देहलीगेट का आया।जिसमे कुंजलपुर निवासी कमलेश देवी ने 6 अप्रैल को मुकद्दमा दर्ज कराया था।यह वह प्रकरण था जिसकी पिटाई की लाइव वीडियो भी वायरल हुई थी।लगभग 20 दिन तक गिरफ्तारी न होने से बैखोफ आरोपी पीड़िता को धमका ही नही रहे बल्कि वीडियो बनाने वाली पड़ोसन से भी मारपीट कर चुके हैं।हालत यह हो गए कि पुलिस की खामोशी से पीड़ितों ने आवाज उठाना भी बन्द कर दिया है।जब यह प्रकरण एस एस पी के पास पंहुचा तो इंस्पेक्टर को 4 दिन का गिरफ्तारी के लिए वक्त दिया है।

केस-3
गांधी पार्क क्षेत्र के नगला मानसिंह में अवैध सम्बन्ध को लेकर हुई मारपीट में पुलिस ने पीड़ित को ही बन्द कर दिया।हालात यह हुए कि स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया और जाम लगा दिया।बाद में जब अफसरों तक मामला पंहुचा तो पीड़ित राहुल को डॉक्टरी के लिए लाया गया।जहां पब्लिक के आक्रोश ने पुलिसकर्मियों

Share.

About Author

Leave A Reply