यूपी: पुलिस वालों के साथ ट्रैक्टर में बैठकर इस तरह पानी बाढ क्षेत्रों में पहुंचे डीएम

0

कानपुर में बाढ़ से प्रभावित गांवों का दौरा करने के लिए जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत ने ट्रैक्टर का सहारा लिया। जिलाधिकारी अपने मातहतों के साथ ट्रैक्टर पर सवार हुए और करीब चार गांवों में घूम कर हालातों का जायजा लिया। जिलाधिकारी का कहना है कि जो गांव या उसके मजरे बाढ़ से घिरे थे अब वंहा पर धीरे धीरे पानी कम होने लगा है। अभी कुछ गांवों के लोग राहत शिविर में ना आकर अपने घरो में है उनको राहत ट्रैक्टर के जरिए भेजा जाएगा। क्योकि पानी अब कम होने लगा है जिससे नाव से राहत सामग्री भेज पाना संभव नहीं है इसलिए ट्रैक्टर का सहारा लिया जाएगा।

कानपुर महानगर से जुड़े बिठूर विधानसभा की पांच ग्राम पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हैं। जिसमे कुछ गांव ज्यादा और कुछ कम प्रभावित है। बाढ़ पीड़ितों को राहत देने के लिए राहत शिविर बनाए गए हैं जिसमे करीब एक हजार से ज्यादा परिवार शरण लिए हुए है। कुछ गांवों के ऐसे भी लोग हैं जो राहत शिविर में आने के बजाय अपने घरों में ही रह रहे है। उन तक राहत कैसे पहुंचाई जाए इसके लिए ट्रैक्टर से पूरे बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रो का दौरा किया गया है।

कानपुर जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत का कहना है कि निरीक्षण के दौरान काफी राहत दिखाई पड़ रही है क्योकि पानी धीरे धीरे कम होने लगा है। अगर तीन चार दिनों तक बरसात नहीं हुई तो स्थिति सामान्य होने लगेगी। बाढ़ ग्रस्त गांवों का निरीक्षण करने के पीछे मकसद था कि हम लोग सूखे आनाज का वितरण करवाने जा रहे हैं। इसलिए संशय बना था की नाव के जरिए कराए या ट्रैक्टर के माध्यम से। जैसे जैसे पानी कम होने लगेगा वैसे सावधानी बरतनी होगी क्योकि ऐसे में संक्रमण रोगों की संभावना बढ़ जाती है। मच्छरों का प्रकोप कम करने के लिए गांवों में मेडिकल कैम्प लगाकर दवा का छिड़काव करवाया जाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply