मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी मेजर उपाध्याय ने भरा पर्चा.

0

वाराणसी
मालेगांव विस्फोट के आरोपी मेजर रमेश उपाध्याय ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की बलिया संसदीय सीट से नामांकन दाखिल किया है। अखिल भारतीय हिंदू महासभा से नामांकन दाखिल करने के बाद मेजर रमेश उपाध्याय ने शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा दिए गए विवादित बयान पर सहमति जताई। उन्होंने कहा कि कोई भी पुलिसकर्मी कहीं भी मरे वह शहीद नहीं कहलाता है। शहीद केवल स्वतंत्रता सेनानी और सैनिक होते हैं। पुलिसवाला कभी शहीद नहीं होता है।

उन्होंने कहा, ‘हेमंत करकरे आतंकवादियों के हाथों मारे गए, यह उनकी नालायकी का सबसे बड़ा सबूत है। हेमंत करकरे ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को नंगा करके पीटा। हम सभी को टॉर्चर किया। 12 में से 11 अभियुक्त ठीक से चल नहीं सकते हैं। प्रज्ञा सिंह ठाकुर वीलचेयर पर चलती हैं। इसका सबूत है हेमंत करकरे ने उन्हें बहुत टॉर्चर किया था।’

रमेश उपाध्याय का कहना है कि हम लोगों के ऊपर की गई सारी कार्रवाई तत्कालीन यूपीए सरकार और कांग्रेस की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी, अहमद पटेल, पी. चिदम्बरम, सुशील कुमार शिंदे और दिग्विजय सिंह के निर्देश पर हो रही थी। उन्होंने कहा कि उस वक्त ब्यूरोक्रेसी कांग्रेस सरकार का तोता बनी हुई थी।

Share.

About Author

Leave A Reply