हिंसा भड़काने वालों से दूर रहे युवा : नायडू

0


नई दिल्ली। उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने युवाओं से राष्ट्र निर्माण के लिए
सृजनात्मक और रचनात्मक दृष्टिकोण अपनाने का आह्वान करते हुए कहा है कि उन्हें हिंसा भड़काने वालों से दूर
रहना चाहिए क्योंकि यह राष्ट्रहित के खिलाफ है। श्री नायडू ने बृहस्पतिवार को उप राष्ट्रपति भवन में गणतंत्र
दिवस परेड शिविर में हिस्सा लेने वाले राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के सदस्यों के बातचीत के दौरान कहा कि
राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाना वास्तव में अपनी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना है। हिंसा को बढ़ावा देने वाले
लोग राष्ट्रीय हितों के विरुद्ध काम करते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ ताकतें तनाव और हिंसा पैदा करने का प्रयास
कर रही हैं। युवाओं को इनसे दूर रहना चाहिए। यदि कोई सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है तो वह वास्तव
में अपना भविष्य नष्ट कर रहा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है। लोकतंत्र में
असहमति के लिए जगह है लेकिन अलगाव के लिए कोई स्थान नहीं है। लोकतंत्र के लिए विमर्श और बहस
महत्वपूर्ण है लेकिन बाधायें खड़ी करना नहीं। उप राष्ट्रपति ने युवाओं से सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने और
रचनात्मक कार्य करने का आह्वान करते हुए कहा कि उन्हें भ्रष्टाचार, लैंगिक भेदभाव और जातिवाद के खिलाफ
संघर्ष करना चाहिए। युवाओं को भारत को गरीबी, भेदभाव, असमानता और भूख से मुक्त करने के प्रयास करने
चाहिए।

Share.

About Author

Leave A Reply