श्रीनगर पहुंचे 17 देशों के राजनयिक, घाटी के हालात का लेंगे जायजा

0

जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद आज 17 देशों के विदेशी राजनयिकों का एक दल कश्मीर पहुंच चुका है. यह विदेशी राजनयिकों का यह पहला आधिकारिक कश्मीर दौरा है. सरकार की ओर से भेजे जा रहे इस दल में अमेरिका, वियतनाम, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, उज्बेकिस्तान, नाइजर, नाइजीरिया, मोरक्को, गुयाना, अर्जेंटीना, फिलीपींस, नॉर्वे, मालदीव, फिजी, टोगो, पेरू के साथ ही पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश के राजनयिक शामिल हैं. विदेशी राजनयिकों का यह दल दो दिन तक कश्मीर में रहेगा.

राजनयिकों का दल श्रीनगर पहुंच चुका है. अब इस दल के सदस्य घाटी में अलग-अलग नेताओं और अधिकारियों से मुलाकात करेंगे. दो दिन के दौरे पर कश्मीर पहुंचे 17 विदेशी राजनयिक यहां उप राज्यपाल से भी मुलाकात करने वाले हैं.

कश्मीर का दौरा करने वाले दल में ज्यादातर राजनयिक लैटिन अमेरिकी और अफ्रीकी देशों से ताल्लुक रखते हैं. इन देशों के राजनयिकों ने कश्मीर के हालात का जायदा लेने के लिए जमीनी दौरा करने की इजाजत केंद्र सरकार से मांगी थी. इसके बाद सरकार ने इनके दौरे का इंतजाम किया है. बीते साल 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने और राज्य के पुनर्गठन के बाद यह पहला राजनयिक दौरा है.

यूरोपीय संघ के प्रतिनिधि भी अलग से कश्मीर का दौरा करना चाहते हैं. उनकी केंद्र सरकार से शर्त थी कि वह घाटी में तीनों क्षेत्रों के प्रमुख नेताओं से मुलाकात करना चाहते हैं. इस लिस्ट में पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती का नाम शामिल है जो फिलहाल हिरासत में हैं. इस वजह से उन्हें बाद में कश्मीर के दौरे की इजाजत दी जाएगी. मौजूदा दल घाटी में उप राज्यपाल जीसी मुर्मू और सिविल सोसायटी के सदस्यों से मुलाकात करेगा. इन मुलाकातो के बाद शुक्रवार को 17 देशों के राजनयिक वापस दिल्ली आ जाएंगे.

जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब 17 देशों के विदेशी राजनयिकों का एक दल कश्मीर जा रहा है. यह विदेशी राजदूतों का यह पहला आधिकारिक कश्मीर दौरा है. सरकार की ओर से भेजे जा रहे इस दल में अमेरिका, वियतनाम, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, उज्बेकिस्तान, नाइजर, नाइजीरिया, मोरक्को, गुयाना, अर्जेंटीना, फिलीपींस, नॉर्वे, मालदीव, फिजी, टोगो, पेरू के साथ ही पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश के राजनयिक शामिल हैं. विदेशी राजनयिकों का यह दल दो दिन तक कश्मीर में रहेगा.

Share.

About Author

Leave A Reply