‘विश्व मेन्सुरेशन हाईजीन दिवस’

0

‘विश्व मेन्सुरेशन  हाईजीन दिवस’के उपलक्ष्य में नवरत्न फाउंडेशन ने एक स्वास्थ्य कार्यशाला का आयोजन किया

‘विश्व मेन्सुरेशन  हाईजीन दिवस’ के उपलक्ष्य में आज  नवरत्न फाउंडेशन ने एक सामाजिक पहल करते हुए  एक स्वास्थ्य कार्यशाला का आयोजन सेक्टर 8 में के स्लम में स्थिति नवरत्न ज्ञानपीठ में किया गया जिसमें आसपास  के क्षेत्र की करीब 10 वर्ष से 17 वर्ष तक कि 60 लड़कियों ने भाग  लिया। इस कार्यशाला में विशेष रूप से आमंत्रित ‘थेयकेयर’ संस्था  की संस्थापिका सुश्री स्वर्णिमा भट्टाचार्य जी अपने अत्यंत प्रभावी उदबोधन से महिलाओँ को होने वाली माहवारी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की तथा साथ में उनकी सभी समस्याओं  का निदान भी किया। महावारी के संबंध में अधिकतर चल रहे भ्रमों को भी तार्किक रूप से दूर किया इसपर ध्यान ने देने के कारण होने वाली बिमारियों के बारे में भी चेताया।

कार्यशाला में कमाल की बात यह रही कि उपस्थित बालिकाओं ने बिना हिचक निर्भीक हो कर अपनी भ्रांति एवम समस्याओं को रखा और बेझिजक उस पर बहस कर अपने की  जिज्ञासाओं की संतुष्टि प्राप्त कर जीवन को सरल बनाने की अग्रसर हुईं । इस कार्यशाला में स्वागत उद्बोधन इसकी सयोंजक  सुश्री महक श्रीवास्तव ने संप्रेषित करते हुआ कहा की अज्ञानता एवं झिझक के कारण अनेक बालिकाएं इस माहवारी के दौरान सफाई एवं सावधानी न रखने के कारण उम्र के साथ अनेक बिमारियों से ग्रस्त हो जाती हैं अत : यह आवश्यक है इसके बारे में ज्ञान प्रारम्भ से ही दे दिया जाए ताकि छोटी छोटी बातों का ध्यान रख कर इन बिमारियों को दूर कर अपने जीवन को बचा  सकें,  नवरत्न की उपाध्यक्ष श्रीमती वर्षा श्रीवास्तव जी ने कहा की इस मुहीम को अभी आगे और ले जाना है ताकि नोएडा के तमाम इस उम्र की बालिकाओं को इससे लाभ मिल सकें. धन्यवाद ज्ञापित करते हुए  नवरत्न की ट्रस्टी श्रीमती प्रीति श्रीवास्तव ने इस क्षेत्र में कार्य कर रहीं अनेक संस्थाओं को आग्रह किया इस मुहीम में साथ आने के लिए जिससे नारी शक्ति को स्वास्थ्य के साथ स्वछता भी प्रदान हो सके. इस कार्यशाला को सफल बनाने के लिए श्रीमती शालिनी अग्रवाल, रमाकांत सिंह, उपदेश श्रीवास्तव, मिनाक्षी झा जी का विशेष योगदान रहा और इस अवसर पर नवरत्न के अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव, तरंग संस्था की अध्यक्ष श्रीमती किरण कपूर, प्रेम, स्वर्ण कालरा, गीता जी, जयलक्ष्मी एवं अंशु जी भी उपस्थित हुए. कार्यशाला के समापन पर सभी उपस्थित बालिकाओं को नाश्ता एवं उपहार प्रदान किये गए. 

Share.

About Author

Leave A Reply