मेजर हांडा को हत्या की जगह लेकर गई पुलिस, चाकू खरीदने वाली दुकान का भी किया दौरा

0

मेजर की पत्नी की हत्या में गिरफ्तार हुए साथी आर्मी ऑफिसर को पुलिस टीम मंगलवार को फिर से घटनास्थल लेकर गई। पुलिस आरोपी हांडा के साथ उन सभी जगहों पर गई, जहां-जहां मेजर निखिल हांडा वारदात वाले दिन घूमा था।

मामले की जांच में जुटी पुलिस हांडा को लेकर दिल्ली की उस दुकान पर भी पहुंची, जहां से मेजर हांडा ने हत्या के लिए दो स्विस नाइफ खरीदे थे। हत्या के बाद निखिल हांडा मेरठ पहुंचने से पहले जिन-जिन रास्तों पर घूमा, पुलिस उन सभी रास्तों पर जाएगी और रास्ते में जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज निकलवाएगी।

सबसे पहले निखिल हांडा को आर्मी बेस हॉस्पिटल ले जाया गया, वहां से उन तमाम रूट पर ले जाया गया जहां से निखिल हांडा हत्या करने के बाद गुजरा था। इस बीच पुलिस ने निखिल हांडा के बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं, जिसके बाद आरोपी मेजर निखिल हांडा की पर्सनल लाइफ का शातिर चेहरा धीरे-धीरे दुनिया के सामने आ रहा है। मेजर हांडा 2015 में जब कश्‍मीर में पोस्‍टेड था तो उसने शैलजा से फेक प्रोफाइल के जरिए दोस्‍ती कर ली। 6 महीने के बाद उसने अपनी असली पहचान जाहिर की थी, जब शैलजा ने उससे मिलने के लिए हामी भरी थी।

ऐसे हुई हत्या
शैलजा शनिवार की सुबह 10 बजे आर्मी के बेस अस्पताल में आर्मी की गाड़ी से ही फिजीयोथैरेपी कराने आई थीं। इसके बाद करीब 1.30 बजे दिल्ली छावनी मेट्रो स्टेशन के पास वरार स्केयर में सड़क पर शैलजा खून से लथपथ लाश मिली थी। घटना के करीब 4 घंटे बाद मृतक शैलजा के पति नारायणा थाने में उनकी गुमशुदगी की शिकायत लेकर पहुंचे थे। शैलजा दिल्ली की रहने वाली थीं और अमित द्विवेदी मेरठ के रहने वाले थे। 2009 में उनकी शादी हुई थी। उनका एक 6 साल का बेटा है।

Share.

About Author

Leave A Reply