केंद्र ने जारी किए आंकड़े : बारिश से देश के 7 राज्यों में हुई 868 की मौतें

0

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि इस साल मानसून के मौसम में बारिश, भूस्खलन और बाढ़ के चलते केरल में 247 लोगों की मौत हो गई। जबकि सात राज्यों में कम से कम 868 लोगों की मौत हो गई। केरल के बाद उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक 13 जिलों में अधिकतम १९१ लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा पश्चिम बंगाल के 23 जिलों में 183 मौतें हुई। महाराष्ट्र में 26 जिलों में 139 लोग मारे गए। गुजरात से पचास मौतें और असम से 45 और नागालैंड में 11 मौतें हुईं।

केरल में 14 जिलों में 2.11 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 32,500 हेक्टेयर फसलों का नुक्सान हुआ। असम में बारिश और बाढ़ से 11.45 लाख लोग प्रभावित हुए। जिसने 27,600 हेक्टेयर में फसल प्रभावित की। पश्चिम बंगाल में 2.27 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 48,550 हेक्टेयर में फसलों की क्षति हुई।

8 अगस्त से 168 लोगों ने केरल में बाढ़ में अपनी जान गंवा दी। राज्य में राहत शिविरों में करीब 2 लाख लोगों को समायोजित किया गया है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल ने फंसे लोगों को बचाने के लिए 43 टीमों को तैनात किया है। जिसमें 2,000 बचावकर्ता और 163 नौकाएं शामिल हैं। मंत्रालय ने कहा कि भारतीय वायुसेना ने 23 हेलीकॉप्टर और 11 परिवहन विमान तैनात किए हैं।

एनआरडीएफ की चौदह टीमें असम में बचाव और राहत कार्यों में शामिल थी। इसके अलावा यूपी में नौ टीम तैनात की गई पश्चिम बंगाल में आठ, गुजरात में सात, महाराष्ट्र में चार और नागालैंड में एक टीम की गई है। केरल, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, असम और नागालैंड में भी 33 लोगों की मौत हुई है और बारिश से संबंधित घटनाओं में 274 घायल हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply