पूरे देश की होनी चाहिए एक भाषा- अमित शाह

0

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देश को एकजुट करने का काम अगर कोई भाषा कर सकती है तो वह हिंदी है. हिंदी दिवस के मौके पर उन्होंने राष्ट्र को शुभकामनाएं दीं और कहा कि भारत कई भाषाओं का देश है और हर किसी का अपना महत्व है. लेकिन पूरे देश में एक भाषा का होना बेहद जरूरी है, जो दुनिया में उसकी पहचान बने. आज भारत को एकता की डोर में बांधने का काम कोई भाषा कर सकती है तो वह हिंदी है.

उन्होंने महात्मा गांधी और सरदार वल्लभभाई पटेल के सपनों को साकार करने के लिए रोजमर्रा के कामों में हिंदी का इस्तेमाल बढ़ाने पर जोर दिया. हिंदी देश की 22 अनुसूचित भाषाओं में से एक है. हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है.

शाह ने कहा, ‘आज हिंदी दिवस के अवसर पर मैं देश के सभी नागरिकों से अपील करता हूं कि हम अपनी-अपनी मातृभाषा के प्रयोग को बढ़ाएं और साथ में हिंदी भाषा का भी प्रयोग कर पूज्य बापू उन्होंने कहा, ‘इस दुनिया में कई देश हैं जिनकी भाषाएं विलुप्त हो गई हैं. जो देश अपनी भाषा खोता है वह अपना अस्तित्व भी खो देता है. जो देश अपनी भाषा खो देता है, वह अपनी संस्कृति को संरक्षित नहीं कर सकता.

Share.

About Author

Leave A Reply