अमित पंघल नंबर-1 बॉक्सर, ओलंपिक क्वालिफायर से पहले बड़ा इनाम

0

अब अमित पंघल एक दशक से भी अधिक समय में इस श्रेणी में शीर्ष वैश्विक रैंकिंग हासिल करने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बन गए हैं.

  • 24 साल के अमित पंघल 420 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं
  • एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर अगले महीने जॉर्डन में

विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता अमित पंघल (52 किग्रा) को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के मुक्केबाजी कार्यबल ने अगले महीने होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर से पहले नंबर एक रैंकिंग दी है. अब अमित पंघल एक दशक से भी अधिक समय में इस श्रेणी में शीर्ष वैश्विक रैंकिंग हासिल करने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बन गए हैं.

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह 2009 में शीर्ष रैंकिंग हासिल करने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बने थे, जब उन्होंने विश्व चैम्पियनशिप के 75 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक के साथ भारत का खाता खोला था. मुक्केबाजी कार्यबल द्वारा जारी सूची के अनुसार, 24 साल के पंघल 420 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं. यही कार्यबल फिलहाल ओलंपिक खेलों के लिए मुक्केबाजी का संचालन कर रहा है. एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर अगले महीने जॉर्डन के अम्मान में होने हैं.

पंघल ने पीटीआई से कहा, ‘यह शानदार अहसास है और बेशक यह मेरे लिए काफी मायने रखता है, क्योंकि इससे मुझे क्वालिफायर में वरीयता हासिल करने में मदद मिलेगी. दुनिया का नंबर एक खिलाड़ी होने से आपका आत्मविश्वास भी बढ़ता है.’ आईओसी कार्यबल इस साल ओलंपिक क्वालिफायर और फिर टोक्यो में मुख्य स्पर्धा का संचालन करेगा क्योंकि कथित वित्तीय और प्रशासनिक कुप्रबंधन के कारण अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) फिलहाल निलंबित है.

पंघल 2017 से बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं . उन्होंने 2018 में राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीते. पिछले साल वह एशियाई प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने के बाद विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने. महिला रैंकिंग में छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मेरीकॉम 51 किग्रा वर्ग में पांचवें स्थान पर हैं. पिछले साल कांस्य पदक सहित विश्व चैम्पियनशिप में आठ पदक जीतने वाली मेरीकॉम के 225 अंक हैं. उनकी प्रतिद्वंद्वी निकहत जरीन 75 अंक के साथ 22वें स्थान पर है.

लवलीना बोरगोहेन 69 किग्रा वर्ग में तीसरे स्थान के साथ शीर्ष भारतीय मुक्केबाज हैं. अन्य भारतीयों में एशियाई चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता कविंदर सिंह बिष्ट (57 किग्रा) सातवें, जबकि गौरव बिधुड़ी 32वें स्थान पर हैं. पुरुष 63 किग्रा वर्ग में विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक 12वें, जबकि शिप थापा 36वें पायदान पर हैं. राष्ट्रमंडल खेलों में तीन बार के पदक विजेता अनुभवी मनोज कुमार 69 किग्रा वर्ग में 71वें, जबकि आशीष 22वें नंबर पर हैं. विश्व और एशियाई चैम्पियनशिप की दो बार की रजत पदक विजेता सोनिया चहल महिला 57 किग्रा वर्ग में 10वें स्थान पर हैं.

Share.

About Author

Leave A Reply